Search
ताजा खबर  
 Mail to a Friend Print Page   Share This News Rate      
Save This Listing     Stumble It          
 


 जिंदगीभर रहना है स्वास्थ्य, तो बचपन से डालें ये आदते

स्कूलों में स्वास्थ्य का बहुत महत्व है, क्योंकि स्कूल केवल औपचारिक शिक्षा प्रदान करने वाले केंद्र ही नहीं हैं, बल्कि एक बच्चे के समग्र विकास को भी प्रभावित करते हैं। बड़े होने के दौरान अच्छे स्वास्थ्य का आनंद लेने के लिए स्वस्थ जीवनशैली की आदत बच्चों को बचपन में ही डाल देनी चाहिए। यह परामर्श पद्मश्री डॉ. के.के. अग्रवाल का है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ. अग्रवाल ने बताया, "स्कूल में स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम चलाकर तंबाकू के सेवन, खराब पोषण, शारीरिक गतिविधि की कमी, दवा और शराब के सेवन जैसी गलत आदतों को हतोत्साहित किया जा सकता है।"

स्वस्थ जीवनशैली के लिए आईएमए सदस्यों को एक अभियान के तहत स्कूलों में प्रार्थना सत्र के दौरान अपने पुराने स्कूल या किसी भी पास के स्कूल में जाने को कहा गया है। वहां वे छात्रों और शिक्षकों के साथ सार्वजनिक स्वास्थ्य के महत्व संबंधी मुद्दों पर बात करेंगे और उन्हें संवेदनशील बनाएंगे। यह स्वास्थ्य चर्चा 10 से 15 मिनट की हो सकती है।

स्कूली बच्चों के लिए कुछ सुझाव

प्रकृति के नियमों का सम्मान करें और मौसमी व स्थानीय रूप से उगाए गए फल और सब्जियां खाएं।
प्रत्येक दिन यह सुनिश्चित करें कि आप उन सभी खाद्य पदार्थों का उपभोग करें जो सभी सात रंगों और छह स्वादों को बढ़ाते हैं।
प्रोसेस्ड कार्बोहाइड्रेट फूड से बचें, जैसे कि सफेद चीनी, सफेद मैदा और सफेद चावल।
नमक की खपत में 40 प्रतिशत की कमी लाएं।
जब भी आपको कहीं मौका मिलता है तो पैदल चलें या टहलें।
किसी भी रूप में तंबाकू का सेवन करना उचित नहीं है। यह केवल नुकसान का कारण बनती है।
हर दिन निश्चित समय पर ही उठें।
नियमित आधार पर योग और ध्यान का अभ्यास करना मत भूलें।
अपने दोपहर के भोजन को न चूकेंऔर दिन में एक बार कसरत भी करें। इससे आपको सूर्य की रोशनी में रहने का मौका मिलता है और आपके शरीर में इससे चुस्ती-फुर्ती बनी रहती है।

समान समाचार  
tejnews.com
     
रिसर्च में हुआ खुलासा, इसलिए रात में होती है शराब पीने की तीव्र इच्छा
हर शाम क्या आपके अंदर एक ग्लास व्हिस्की पीने की तीव्र इच्छा उठती है, अगर ऐसा है तो यह मस्तिष्क की प्रतिरक्षा प्रणाली या इम्यून सिस्टम की उत्तेजना के कारण हो सकता है। एक नए रिसर्च के निष्कर्षो में मस्तिष्क की प्रतिरक्षा प्रणाली और रात में शराब पीने की प्रेरणा के बीच के संबंध पता चला है। शोधार्थियों ने बताया कि इसका कारण यह है कि शरीर की जैविक प्रक्रिया मादक पदार्थो से संबंधित व्यवहार के कारण मस्तिष्क द्वारा उत्पन्न संकेतों को प्रभावित करती है और यह प्रभाव आमतौर पर शाम या अंधेरे के वक्त देखने को मिलते हैं। ऑस्ट्रेलिया की यूनिवर्सिटी ऑफ एडीलेड पीएचडी छात्र व अध्ययन के
read more..

रिसर्च में हुआ खुलासा, इसलिए रात में होती है शराब पीने की तीव्र इच्छा

रोजाना सुबह पुरुष खाएं भीगा हुआ चना, तो मिलेंगे ये बेहतरीन फायदे

मस्सों से केला सिर्फ एक दिन में दिलाएंगा निजात!

अगर रहना है फिट, तो नियमित मात्रा में लें प्रोटीन

डिप्रेशन के कारण नहीं आती है नींद, तो करें इस चीज का सेवन

बिना दवा खाए सिर्फ 1 मिनट में ऐेसे पाएं सिरदर्द से निजात!

रोजाना सुबह के समय खाएं इतने ग्राम बादाम, तो मिलेंगे आपको ढेरों फायदे

रोजाना पीएं 1 कप अदरक का जूस और पाएं इन जानलेवा बीमारियों से निजात

अगर कुत्ता काट लें, तो इन घरेलू उपायों से तुरंत बचाएं अपनी जान

पेट की चर्बी को घटाती है हरी इलायची, ऐसे करें सेवन...

सब माचिस की तीली कह आपको चिढ़ाते हैं, तो ऐसे बढ़ाएं अपना वजन

ये है दुनिया का सबसे बड़ा नवजात, वजन और लंबाई जान चौंक जाएंगे आप

चॉकलेट के इन फायदों के बारे में नहीं जानते होंगे आप

ये 4 आसन दिलाएंगे आपको आंखों की समस्या से छुटकारा

रोजाना खाएं जामुन, मिलेंगे ये 12 बेहतरीन फायदे

गर्मियों में इन 5 वजह से निकलने लगती है आपके पैरों की स्किन

होली के लिए ऐसे बनाएं हर्बल रंग और रहें सुरक्षित

रोज सुनेंगे चिड़ियों की चहचहाहट तो जिंदगी रहेगी खुशनुमा

पिंपल से पाना है निजात, तो इन आदतों को कहें गुडबाय

आपका मोबाइल है बैक्टीरिया का भंडार

पब्लिक पोल  
हाँ
नहीं
ठीक
नहीं
Poll Comments
  
tejnews.com
tejnews.com
tejnews.com
tejnews.com
tejnews.com
 
 
 
 
होम  |  देश  | MP-CG  | धर्म-कर्म  | हेल्थ  | अजबगजब  | व्यक्ति-ब्लॉग  | लाइफस्टाइल  | सैर  | राजनीति  | रीवा रीजन  | UP-RJ  | नियम एवं शर्तें  | गोपनीयता नीति  | विज्ञापन हमारे साथ  | हमसे संपर्क करें  | Live टीवी
TejNews.com Copyrights2011-2012. All rights reserved. Designed & Developed by : MakSoft.in
 
Hit Counter